Connect with us

News

Essay on Hamare Apne Oxygen Treatment Plant

Published

on

आज हम अपने Oxygen Treatment Plant पर एक निबंध देखने जा रहे हैं। दोस्तों Oxygen हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण गैस है। आप Oxygen के बिना जीवित भी नहीं रह सकते। इसलिए Oxygen इंसानों के साथ-साथ जानवरों के भी जीवित रहने के लिए बहुत जरूरी तत्व है।

आज हम आपको Oxygen के बारे में बहुत सारी विस्तृत जानकारी देने जा रहे हैं। दोस्तों अगर आप प्रतियोगी परीक्षा दे रहे हैं, जैसे कुछ दोस्त स्कूल-कॉलेज में होते हैं, तो उनसे भी हमारे अपने Oxygen Treatment Plant पर निबंध हिंदी में पूछा गया है।

यदि आप किसी निबंध प्रतियोगिता में भाग ले रहे हैं, तो आपसे हमारे अपने Oxygen उपचार संयंत्र पर यह निबंध हिंदी में पूछा जाएगा। इसी प्रकार प्रतियोगी परीक्षाओं में यह निबंध बहुत कुछ पूछा गया है।

Best Essay on Hamare Apne Oxygen Treatment Plant in Hindi 👌

  • पेड़ों से मिलने वाली चीजें
  • पेड़ पर्यावरण को काफी हद तक लाभ पहुंचाते हैं
  • आपका Oxygen उपचार संयंत्र
  • essay on hamare apne oxygen treatment plant in hindi

पेड़-पौधे हमेशा से प्रकृति की अनमोल देन रहे हैं। और इसीलिए भारत में प्राचीन काल से ही वृक्षों की बड़े पैमाने पर पूजा की जाती रही है। आज यह प्रथा कुछ हिस्सों के साथ-साथ पूरे भारत में भी चल रही है। पेड़ अविभाज्य मित्र हैं जो हमारे सबसे परोपकारी निस्वार्थ सहायक हैं।

आयुर्वेदिक चिकित्सा में वृक्षों का सर्वाधिक महत्व है। पेड़ों के बिना अधिकांश जीवित चीजों की कल्पना नहीं की जा सकती है। अधिकांश पौधों के बिना, जीवित चीजें पृथ्वी पर जीवित नहीं रहतीं।

वृक्षों से आच्छादित फलों और फूलों का पहाड़ और साथ ही एक बाग आपके लिए एक बहुत ही अनमोल उपहार है।

 आजकल पेड़ों के कई फायदे हैं क्योंकि वे खाद्य प्रसंस्करण के दौरान वातावरण से कार्बन डाइऑक्साइड भी लेते हैं। और वे Oxygen छोड़ रहे हैं, इसलिए मनुष्य को Oxygen की सबसे अधिक आवश्यकता है। मनुष्य Oxygen के बिना जीवित नहीं रह सकता है।

इसलिए पौधे भी अपने द्वारा छोड़े गए कार्बन डाइऑक्साइड को ग्रहण कर रहे हैं। और वे आपको शुद्ध Oxygen देते हैं। तो पेड़ों का महत्व बहुत ज्यादा है पेड़ हमें सबसे बड़ा जीवन दे रहे हैं। पेड़ों ने आधुनिक समय में सभी जीवित चीजों के लिए जीवित रहना संभव बना दिया है।

पेड़ों से मिलने वाली चीजें 👇

पौधे हमारे जीवन में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। हममें से अधिकांश लोगों को सब कुछ पेड़ों से मिलता है। पेड़ हमारे लिए जीवन रेखा का भी काम करते हैं। जैसे पेड़ हमें जीवन देते हैं, वैसे ही पेड़ हमें बहुत कुछ मुफ्त में देते हैं। पेड़ों से हमें क्या मिलता है, हम इस प्रकार सीखेंगे।

आप वुड ग्रास गम रबर फाइबर सिल्क बांस हाउस सुपारी के रंग के फलों के फूलों के बीज और पौधों से बहुत बड़ी मात्रा में और मुफ्त में भी प्राप्त कर सकते हैं। पौधे हमेशा पर्यावरण को शुद्ध करते हैं। और ये हमेशा आपको प्रदूषण से दूर रखने में मदद करते हैं।

पेड़ों से होने वाला प्रदूषण हमेशा कम होता है। चक्रवात से पेड़ों को होने वाली क्षति भी काफी कम हो जाती है। पेड़ मिट्टी के कटाव को काफी हद तक रोकता है।

पेड़ पर्यावरण को काफी हद तक लाभ पहुंचाते हैं 👇

पेड़-पौधे पर्यावरण को काफी हद तक लाभ पहुंचाते हैं। पेड़ों की सुरक्षा काफी हद तक पर्यावरण की रक्षा करती है। साथ ही पर्यावरण का संतुलन काफी हद तक बना रहता है। आज के आधुनिक युग में शहरीकरण और औद्योगीकरण बढ़ रहा है।

इसी प्रकार औद्योगिक नीति में वृक्षों के उपयोग में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। हाल के दिनों में बढ़ते औद्योगीकरण ने पर्यावरण के लिए खतरे में भारी वृद्धि की है। आज के कृषि जगत में, पेड़ों का उपयोग अक्सर इमारतों, पुलों, रेलवे और सजावट के निर्माण के लिए ऊर्जा और ईंधन के स्रोत के रूप में किया जाता है।

 इसलिए आजकल पेड़ों की कटाई की दर भी काफी हद तक बढ़ गई है। इसलिए अगर हम आजकल बहुत सारे पेड़ों की देखभाल करते हैं, तो हमें भविष्य में प्रदूषण का सामना नहीं करना पड़ेगा। लेकिन अगर हम अभी पेड़ों की देखभाल नहीं करते हैं, तो हमें भविष्य में बहुत अधिक प्रदूषण का सामना करना पड़ेगा।

 इससे कई गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं। यदि आप ऐसी बीमारियों से पीड़ित नहीं होना चाहते हैं, तो आपको पहले बहुत बड़ी संख्या में पेड़ लगाने होंगे। पेड़ों से प्रदूषण बहुत कम होता है। और जो प्रदूषण होता है वह बहुत छोटा होता है। उसी तरह पेड़-पौधे प्रदूषण कम करने का काम कर रहे हैं।

आपका Oxygen उपचार संयंत्र 👇

यदि आप अपना खुद का Oxygen Treatment Plant शुरू करना चाहते हैं, तो आपको पहले अपने घर के साथ-साथ जहां आप रहते हैं, वहां पेड़ लगाने चाहिए। पौधे हमें इन दिनों बहुत बड़ी मात्रा में Oxygen की आपूर्ति कर रहे हैं। पौधे हमें भरपूर Oxygen देते हैं।

आज पेड़ भी हमें जीवन दे रहे हैं। यदि आप अपना स्वयं का Oxygen उपचार संयंत्र शुरू करने की योजना बना रहे हैं, तो सबसे पहले आपको जो पौधे लगाने हैं, उनकी देखभाल करनी चाहिए। यदि आप अपने Oxygen Plant को चालू करते हैं, तो आपको इनमें से बहुत सी चीजें मुफ्त में मिल जाएंगी।

पहली चीज जो आपको मिलेगी वह है शुद्ध Oxygen मुफ्त। उसी तरह हमारे यहां जो प्रदूषण हो रहा है वह काफी हद तक कम होने वाला है। आपके पड़ोसियों को जो प्रदूषण हो रहा है, वह आपके द्वारा लगाए गए पेड़ों से भी कम हो जाएगा। पौधे भी आज सबसे महत्वपूर्ण Oxygen पैदा करने वाली मशीनों में से एक हैं।

अगर आप Oxygen बनाने की कोशिश कर रहे हैं तो आप आजकल बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। Oxygen का उत्पादन आज के समय की सबसे बड़ी जरूरत बन गया है। आजकल, यदि आप बहुत अधिक Oxygen का उत्पादन कर रहे हैं, तो इसका आपकी जनसंख्या पर भी महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ने वाला है।

हम अपने पास मौजूद लोगों में कभी भी बहुत अधिक बीमारी नहीं फैलाएंगे। इसी तरह हम कभी भी किसी संक्रामक रोग का सामना नहीं कर पाएंगे। यदि आपके पास Oxygen उपचार संयंत्र है, तो पौधे भी आजकल Oxygen उपचार योजना के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारक हैं। इस तरह आप अपना Oxygen Treatment Plant स्थापित कर सकते हैं।

निष्कर्ष  👌

दोस्तों आपको हमारे अपने Oxygen Treatment Plant पर निबंध के बारे में हिंदी में दी गई जानकारी के बारे में आपको कैसा लगा? हमें उम्मीद है कि आपको हमारे अपने Oxygen Treatment Plant पर निबंध हिंदी में पसंद आया होगा।

यदि आप Oxygen Plant लगाने के बारे में अधिक जानकारी चाहते हैं, तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम हमेशा आपके लिए नवीनतम जानकारी लाते हैं।

IndianMic एक News Website है जहा पर आपको हर प्रकार की न्यूज़ मिलेगी जैसे कि Online Activities, Gaming, Social Media, Bollywood, Festivals, किसान और भारत में हर प्रकार की घटनाओ की न्यूज़ आपको बहुत ही जल्दी और पुरे सच के साथ बिना किसी Judgement के मिलेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

India

दुनिया के 100 प्रभावशाली नामों में PM मोदी शामिल, भारत के तीन नाम कौन है ?

Published

on

pm narendra modi in 100 most influential people of 2020

समय से साथ बदलती रहती हैं वैश्विक ताक़तें और इसीलिये समय-समय पर विभिन्न चैनल्स व पत्रिकायें अपने मानकों के अनुसार विश्व के प्रभावशाली नामों की सूची जारी करते रहते हैं जिससे हमें वैश्विक पटल पर व्यक्तित्व के वर्चस्व का पता चलता है।
बताते चलें कि प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन ने 2021 में विश्व मे प्रभावशाली रहे 100 बड़े नामों की सूची जारी की है,बताया जा रहा है कि इसमें 3 नाम भारत से हैं जिनमे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के CEO अदार पूनावाला शामिल हैं।

कैसे बनायी मोदी ने जगह…..

विदित है कि नरेंद्र मोदी पर विश्व मे तमाम तरह के संवाद चलते रहते हैं कभी कोई उनकी छवि को नकारात्मकता के तराजू से तौल कर देखता और घड़ियाली आँसू कहकर प्रतीकात्मक आलोचना करता है तो कभी कोई उन्हें डिवाइडर बता कर अपनी आलोचना व्यक्त करता है तो दूरी ओर कोई उन्हें सकारात्मकता की नज़र से देखते हुये उन्हें वैश्विक लीडर के रूप में मान्यता देता है।
इस बार भी कुछ ऐसा ही रहा जब टाइम मैगजीन ने विश्व के 100 प्रभावशाली नामों में उन्हें नामित किया।
बतातें चलें कि 2021 में उन्हें यह स्थान कोविड आपदा प्रबंधन और इस दौरान लिये गये विभिन्न साहसिक निर्णयों के चलते मिला है।

ममता बनर्जी भी आयीं ग्लोबल लिस्ट में…

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जो भारत के बड़ी नेताओं में से एक हैं उन्होंने भी इस सूची में अपनी जगह बनायी है बताया जा रहा है कि ममता को यह जगह हाल हिमे सम्पन्न हुये विधान सभा के चुनावों में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु प्राप्त हुआ है।
गौरतलब है कि इस बार ममता बनर्जी को हराने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया था पर अफ़सोस वह सरकार नही बना पाये।

सीरम इंस्टीट्यूट के CEO को मिली जगह….

इस सूची में शामिल भारत के 3 नामों में से तीसरा नाम सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के CEO अदार पूनावाला का है।

तालिबान मुल्ला बरादर भी हैं शामिल…

दुनिया को हैरान करने वाली बात तो यह है कि इस सूची में तालिबान के सह संस्थापक मुल्ला अली बरादर का नाम भी शामिल है ,अफगानिस्तान में सत्ता परिवर्तन के दौरान बरादर ही विश्व समुदाय से बातचीत कर रहे थे और ऐसे में जब अफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता स्थापित हो चुकी है तो इस लिस्ट में मुल्ला अब्दुल गनी बरादर का नाम होना कोई आश्चर्य की बात नहीं है।
इसके अलावा इस लिस्ट में अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ,उपराष्ट्रपति कमला हैरिस, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और डोनाल्ड ट्रंप भी शामिल हैं।

Continue Reading

News

15 अक्टुबर को लॉन्च होने वाला है ब्रांड न्यू Oneplus 9RT, जाने क्या होगा खास?

Published

on

OnePlus 9RT

इस बात में कोई दो राय नहीं कि कुछ सालों पहले शुरू हुआ स्माटफोन ब्रांड वनप्लस आज के समय में दुनिया के सबसे बेहतरीन स्मार्टफोन बनाने वाली ब्रांड्स में गिना जा रहा है। जहां एक तरफ पहले वनप्लस फ्लैगशिप किलर स्मार्टफोन बनाया करता था तो आज के समय में यह खुद फ्लैगशिप स्मार्टफोन बनाए लगा है लेकिन वनप्लस की लोकप्रियता लगातार बढ़ती जा रही हैं। पिछले कुछ सालों में वनप्लस की सेल्स मे भी वाकई में काफी इजाफा हुआ है। हाल ही में कुछ महीनों पनप वनप्लस ने अपनी नई सीरीज लॉन्च की थी जिसे लोगों ने काफी पसंद किया। अब जल्द ही वनप्लस अपना एक ब्रांड न्यू स्मार्टफोन Oneplus 9RT बाजार में उतारने वाला हैं, जिसके लिए वनप्लस फैंस में काफी उत्साहन हैं।

15 अक्टूबर को लॉन्च होगा Oneplus 9RT

हाल ही में Oneplus 9RT से संबंधित एक लीक सामने आई है जिसमें कहा जा रहा है कि इस स्मार्टफोन को 15 अक्टूबर के दिन लांच किया जा सकता है। वैसे ब्रांड ने तो अब तक आधिकारिक तौर पर इस बात की पुष्टि नहीं की है लेकिन लीक सोर्स OnLeaks के द्वारा पहले भी काफी सारी कंफर्म लीक्स दी गयी हैं जो आगे जाकर सही साबित हुई। कहा जा रहा है कि वनप्लस के इस ब्रांड न्यू स्मार्टफोन Oneplus 9RT को भारत और चीन में रिलीज किया जाएगा। इस स्मार्टफोन के फीचर्स के बारे में भी कुछ लीक्स सामने आई हैं जिसमे कहा जा रहा हैं कि स्मार्टफोन में स्नैपड्रैगन 870, 8 जीबी रैम, ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप जैसे बेहतरीन और आकर्षक फीचर्स हो सकते हैं।

यह होगा Oneplus 9RT में ख़ास? (Expected)

Oneplus 9RT जल्द ही चीनी और भारतीय बाजार में लांच होने वाला है और यही कारण है कि इससे संबंधित काफी सारी लीक्स वर्तमान में इंटरनेट पर वायरल हो रही है। कहा जा रहा हैं कि इस फ़ोन में 6.55 इंच की Samsung E3 फूल एचडी सुवर एमोलेड डिस्प्ले होगी। Qualcomm Snapdragon 870 इस फ़ोन को पावर देने का काम करेगा जो गेमिंग परफॉर्मेंस में वाकई में चार चांद लगा देगा। स्टोरेज की बात की जाए तो इस स्मार्टफोन में 8GB LPDDR4x रैम और 256GB UFS 3.1 स्टोरेज हो सकता हैं। इसके अलावा इस स्मार्टफोन में 50 मेगापिक्सल Sony IMX766 प्राइमरी सेंसर, 16-मेगापिक्सल का Sony IMX481 सेंसर और 2-मेगापिक्सल ब्लैक एंड व्हाइट सेंसर वाला ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप होने की सम्भावना हैं।

इतनी हो सकती हैं Oneplus 9RT की कीमत (Expected)

पिछले कुछ सालों में वनप्लस ने भारत सहित अन्य कई देशों में अपने स्मार्टफोन की क्वालिटी और परफॉर्मेंस को लेकर काफी लोकप्रियता प्राप्त की है लेकिन इस बात से भी मुंह नहीं कहा जा सकता कि वनप्लस के स्मार्टफोन्स की कीमत लगातार बढ़ती जा रही है। वनप्लस 9RT की कीमत के बारे में कहा जा रहा हैं कि स्मार्टफोन के 128 जीबी वेरियंट की कीमत 34,300 रुपये के करीब और 256 वाले वेरियंट की कीमत 37,700 रुपये होगी। लेकिन इस स्मार्टफोन की कीमत चीन में होगी। स्मार्टफोन के भारतीय कीमत भी इसी के आसपास होगी लेकिन अब तक उसके बारे में कुछ खास लीक नहीं मिली है।

Continue Reading

India

यह है कोरोना का रामबाण ईलाज 5 दिनों में ख़त्म होगा कोरोना

Published

on

ramban treatment of corona with in 5 days

सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट का बड़ा दावा निकल कर सामने आया है,इंस्टिट्यूट द्वारा जारी बयान में कहा गया कि उसने कोरोना की स्वदेशी दवा का निर्माण कर लिया है।
इंस्टिट्यूट का दावा है कि यह पहली एंटीवायरल दवा है,इंस्टिट्यूट ने दवा का नाम भी जारी किया है।
अपने बयान में इंस्टिट्यूट ने दवा का नाम उमीफेनोविर बताया है।

5 दिनों में ख़त्म होगा कोरोना….

उमीफेनोविर भारत की पहली एंटीवायरल दवा है इसको बनाने वाले इंस्टीट्यूट सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट का दावा है कि यह सिर्फ 5 दिन में ही कोरोना को पूरी तरह से ख़त्म कर देने ने सक्षम है। बता दें कि यह दवा हल्के और प्रारम्भिक लक्षणों वाले कोविड पेशेंट पर कारगर साबित होगी।

इतने मरीजों पर हुआ परीक्षण……

इंस्टिट्यूट के निदेशक डॉ तपश कुंडू ने यह जानकारी साझा करते हुये बताया कि किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज,लोहिया अस्पताल व एरा मेडिकल कॉलेज में भर्ती 132 कोरोना मरीजों पर इस दवा के थर्ड फेज़ का परीक्षण किया गया।
परीक्षण में 18 से 75 वर्ष उम्र के मरीज शामिल रहे।
डॉ कुडू के मुताबिक कोरोना के हल्के और मध्यम लक्षण वाले मरीजों को उमीफेनोविर 800 की दो डोज सुबह और शाम देनी होगी,इससे शुरू के 5 दिनों में ही मरीज पूर्णतया स्वस्थ हो जायेगा।
बता दें कि यह दवा डेल्टा वेरियंट पर भी असरदार साबित हुई है।

गोवा में तैयार होगी यह दवा….

निदेशक डॉ तपस कुंडू के मुताबिक इस दवा के बनने की तकनीकी गोवा की एक मेडिसिन कंपनी मेरजेस्ट मेसर्स को दी गयी है ,बहुत जल्द यह टेबलेट और सीरप के रूप में सभी से सामने होगी।
डॉ कुंडू ने बताया कि यह दवा टेबलेट और सीरप दोनों रूप में मार्केट में उपलब्ध होगी और इसके 5 दिन के इलाज का खर्च लगभग 600 रु के आस पास होगा।

Continue Reading

Trending

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap