Connect with us

India

Delhi Oxygen Supply and Crisis

Published

on

corona delhi crisis

Delhi Oxygen Supply and Crisis की बात करें तो हमें पता चलेगा कि दिल्ली में कितने भयंकर हालात हैं वहां पर कोरोना के कारण कितने ही अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी हो रही है और कितने ही मरीज मर रहे हैं इसके साथ साथ ऑक्सीजन और कुछ दवाइयों की कालाबाजारी भी जोरों शोरों पर है।

दिल्ली उत्तर प्रदेश पंजाब हरियाणा राजस्थान इन सभी राज्यों में बहुत सारी कालाबाजारी करने वाले गिरोह पकड़े गए हैं जो असंख्य ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाइयां छुपा कर रखे हुए थे और किसी बड़े अवसर या हालात ज्यादा खराब होने पर ऊंचे दामों में बेचने के फिराक में थे।

लेकिन इस कोरोना की घड़ी में पुलिस ने सावधानी दिखाते हुए उनको पकड़ा और उनके सारे ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाइयां जपत कर जरूरतमंद हॉस्पिटल्स में भिजवाई।

पुलिस के सावधानी और समझदारी बड़े कार्य को देखकर बहुत सारे कालाबाजारी करने वाले लोगों के मन में भी डर का माहौल है और पुलिस ने आम जनता को यह विश्वास दिलाया है कि इस कोरोना काल में कोई भी आपकी जरूरतों का नाजायज फायदा नहीं उठा पाएगा।

Delhi Oxygen Supply

दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर की भारी कमी के कारण कई मरीजों की मौत हो चुकी है और पिछले 3 दिनों के अंदर दिल्ली में मौत का आंकड़ा भी काफी बढ़ गया है दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी मीटिंग में यह कहा कि आप दिल्ली के लिए 800 टन ऑक्सीजन का इंतजाम करवाइए।

इसके साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि जो ऑक्सीजन दूसरे राज्यों से दिल्ली में आती है उसे दूसरे राज्यों की बॉर्डर पर रोक लिया जाता है और उसे रोका जाए इसका कोई ठोस इंतजाम किया जाए लेकिन अगर हम इस चीज को विस्तार से जाने कि उस ऑक्सीजन को कौन रोकता है तो उसमें कुछ कार्य दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का ही है उन्होंने दिल्ली बॉर्डर पर बैठने के लिए तथाकथित किसानों का समर्थन किया।

अब वह दिल्ली बॉर्डर पर दूसरे वाहनों के साथ साथ ऑक्सीजन के ट्रक्स रोक रहे हैं और उनकी वजह से दिल्ली के अस्पतालों में मरीजों की मौत हो रही है लेकिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यह साफ-साफ नहीं बताएंगे कि ट्रक कौन रोक रहा है ट्रक दूसरे राज्यों की सरकार रोक रही है या उनके द्वारा आश्चर्य दिए गए तथाकथित किसान।

Corona Virus की घड़ी में अगर हालातों पर विजय पानी है तो सभी सरकारों को एक दूसरे पर इल्जाम ना लगाते हुए एक साथ होकर लड़ने की जरूरत है अगर यह सभी एक दूसरे पर इसी तरह इल्जाम लगाते रहे तो हालात और बिगड़ेंगे और यह कभी भी काबू में ना आने जैसे हो जाएंगे

दूसरी तरफ सोशल मीडिया और मेन मीडिया को भी ध्यान रखना होगा कि वह लोगों को ज्यादा डर आए नहीं उन्हें शांति बनाए रखने का प्रयास करें और उन्हें मांस लगाने और अपनी सुरक्षा खुद करने के लिए प्रेरित करें इससे ज्यादा कोरोना से और कोई बचाव नहीं हो सकता और भारत की सरकार निरंतर रूप से कोरोना को हराने के लिए प्रयासरत है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap