Connect with us

News

Bengal Election Modi vs Mamta

Published

on

bengal election

Bengal Election में दोनों ही तरफ के उम्मीदवार बहुत ही दम लगा कर अपने अपने पलड़े में वोट बटोरने की जी तोड़ कोशिस कर रहे है परन्तु यह किसी की भी तरफ सफाई से आता हुआ नहीं दिख रहा है।

जैसा कि आप जानते हैं कि पश्चिम बंगाल के चुनाव एकदम शिखर पर चल रहे हैं और इसके साथ साथ बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बहुत सारे वाद विवाद सामने आ रहे हैं और उन बाद विवादों के सामने Corona Cases को बिल्कुल ही नकारा जा रहा है।

Bengal Election

जिस प्रकार बंगाल में Corona Cases बढ़ रहे हैं और उसको कोई भी Media House Cover नहीं कर रहा है उससे ऐसा लगता है कि यह चुनाव खत्म होने के बाद बंगाल की स्थिति Corona Cases के कारण बहुत ही गंभीर हो सकती है और यह चुनाव बंगाल का आज तक का सबसे बुरा चुनाव हो सकता है।

सभी चुनावी पार्टियां रैली कर रही हैं और इसी बीच ममता बनर्जी ने एक घंटे से कम रैली करने के लिए सभी पार्टियों को बाध्य किया है।

दूसरी ओर अमित शाह भी बीजेपी का प्रचार में जमकर लगे हुए हैं और उनसे कुछ पत्रकारों ने उनकी नीतियों पर पूछा तो उनमें से एक नीति बहुत ही बढ़ चढ़कर सामने आने लगी जो है कि वह बंगाल में बाहरी घुसपैठ को कैसे रोकेंगे तो बंगाल में बाहरी घुसपैठ को रोकने के लिए उन्होंने कई नीतियां बनाई है जो मैंने यहां पर आपको इस वीडियो में दी है आप इस वीडियो को देखकर उसको आसानी से समझ सकते हैं।

आपको पता होगा कि बंगाल में 8 चरणों में चुनाव होने जा रहे हैं और बंगाल के चुनाव के लिए टीएमसी और बीजेपी दोनों ही पार्टियों ने कमर कस ली है और दोनों एक दूसरे को टक्कर देते हुए अपना चुनाव प्रचार कर रही है।

चुनाव को 8 चरणों में रखे जाने के कई कारण बताए जा रहे हैं जिनमें से मुख्य कारण कोरोना वायरस बताया जा रहा है लेकिन अभी यह खुलकर सामने नहीं आया है कि चुनाव को आठ राउंड में क्यों करवाया जाएगा।

बीजेपी की तरफ से अमित शाह बहुत ही जोरों शोरों से बीजेपी का प्रचार कर रहे हैं और अमित शाह को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि अबकी बार पश्चिम बंगाल में बीजेपी की सरकार आ सकती है अगर बीजेपी की सरकार ने आए तो भी वह टीएमसी को बहुत ही ज्यादा अच्छी टक्कर देगी।

आप अगर लगातार न्यूज़ से जुड़ा रहना चाहते है तो हमारा Telegram Channel Join कर सकते है।

IndianMic एक News Website है जहा पर आपको हर प्रकार की न्यूज़ मिलेगी जैसे कि Online Activities, Gaming, Social Media, Bollywood, Festivals, किसान और भारत में हर प्रकार की घटनाओ की न्यूज़ आपको बहुत ही जल्दी और पुरे सच के साथ बिना किसी Judgement के मिलेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

News

Amazing Interesting Facts In Hindi

Published

on

आज इस लेख में हम (facts in hindi) तथ्यों को हिंदी में जानेंगे। आपको तथ्यों को जानने की हमेशा जिज्ञासा रहती है। इसे ध्यान में रखते हुए, हम आपके लिए (amazing facts in hindi about life ) जीवन के बारे में आश्चर्यजनक तथ्य लेकर आए हैं।

Amazing Interesting Facts In Hindi

तो चलिए बिना समय बर्बाद किये हिंदी में तथ्य सीखते हैं।

इस लेख में हम आपके लिए कुछ बेहद रोचक तथ्य लेकर आए हैं। यदि आप इन सभी मज़ेदार तथ्यों को पढ़ते हैं, तो आपको बहुत सी नई जानकारी मिलेगी।

Interesting facts in Hindi about World  

1) आइसलैंड सबसे खुशहाल है

आइसलैंड दुनिया का सबसे खुशहाल देश है क्योंकि यह दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जिसके पास सैन्य नहीं है।  

 2) बोर्ड खेल

आज, लुडो दुनिया का सबसे बड़ा बोर्ड गेम है और शतरंज दुनिया का दूसरा सबसे लोकप्रिय बोर्ड गेम है। जर्मनी में सभी खेलों की बिक्री होती है।  

3) भालू पेड़ पर सोता है

क्या आप जानते हैं कि दुनिया में सभी प्रकार के काले भालू कभी-कभी पेड़ों पर भी सोते हैं  

 4) टॉक आइलैंड

 यह दुनिया का एकमात्र द्वीप है जो हमेशा सौर ऊर्जा से संचालित होता है      

 5) मानव आबादी से अधिक कुत्ते

कुत्तों की संख्या फ्रांस की राजधानी पेरिस में लोगों की संख्या से कई गुना अधिक है। सरकार ने पेरिस में मेट्रो पर कुत्तों को ले जाने पर लोगों पर कोई प्रतिबंध नहीं है।  

 6) भेड़ों की संख्या अधिक है

न्यूजीलैंड दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाले देशों में से एक है, जिसमें प्रति व्यक्ति छह भेड़ हैं।  

7) शतरंज

शतरंज दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण खेल है और दुनिया में सभी को पसंद आएगा। शतरंज के खेल का आविष्कार भारत में हुआ था।  

8) डॉल्फिन के बारे में तथ्य हिंदी में

डॉल्फिन एक मछली है जो पांच से दस मिनट तक अपनी सांस रोक सकती है। केवल मैं ही नहीं, बल्कि डॉल्फिन एक आंख खोलकर सो सकती है।  

Amazing Facts in Hindi about India

1) भारत नाम की उत्पत्ति

भारत का नाम सिंधु नदी से उत्पन्न हुआ है  

2) देश का नाम भारत

भारत देश का नाम भारत का आधिकारिक संस्कृत गणराज्य है और आज लोग इस नाम को केवल भारत कहते हैं।  

3) अधिकांश अंग्रेजी बोली जाती है

हिंदी भारत की राष्ट्रीय भाषा है और हिंदी के बाद अंग्रेजी दूसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। भारत में हिंदी की तस्वीरें सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा अंग्रेजी है.

भारत दुनिया में 24 वाँ सबसे अधिक बोली जाने वाली अंग्रेजी देश है, भारत में हिंदी सहित 22 राज्य हैं। अंग्रेजी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है. 

4) सबसे बड़ी डाक प्रणाली

भारत में दुनिया की सबसे बड़ी डाक प्रणाली है। डाक प्रणाली के मामले में भारत पहले स्थान पर है  

5) पवित्र शहर वाराणसी

वाराणसी भारत का सबसे पवित्र शहर है और भारत का सबसे पुराना शहर भी है  

6) दिल्ली में ताजमहल

  आगरा में ताजमहल, भारत दुनिया के सात अजूबों में से एक है, जिसे शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज़ की याद में बनवाया था।  

7) सबसे बड़ा सड़क नेटवर्क

भारत में दुनिया का सबसे लंबा सड़क नेटवर्क है  

8) भारत सबसे बड़ा निर्यात बाजार है

पिछले कुछ हज़ार वर्षों से, भारत भारत से इस्पात, कृषि और तकनीकी उत्पादों का बड़ी मात्रा में निर्यात कर रहा है, साथ ही भारत से वस्त्र भी प्राप्त कर रहा है।

9) फिल्म उद्योग

दुनिया का सबसे बड़ा फिल्म उद्योग भारत में है। भारत में अधिक फिल्में बॉलीवुड में बनाई जाती हैं। भारत में कई स्टूडियो में फिल्में बनाई जाती हैं।    

10) संख्या शून्य की उत्पत्ति

गणित में दैनिक जीवन में सबसे महत्वपूर्ण संख्या भारत द्वारा दुनिया को दी गई शून्य की अवधारणा है। भारत ने शून्य का आविष्कार किया।  

11) दूध का उत्पादन

भारत दुनिया में दूध का सबसे बड़ा उत्पादक है और यह हमेशा दुनिया के हर देश में अपने उत्पादों का निर्यात करता है।  

12)  शाकाहारियों

भारत में शाकाहारियों की संख्या सबसे अधिक है  

13)  बहुत सम्मानजनक स्थान है

तिरुपति में विष्णु मंदिर दुनिया का एकमात्र मंदिर है जो हमेशा सभी जातियों और धर्मों के भक्तों को आकर्षित करता है।  

14) महान लोकतंत्र

भारत दुनिया में सबसे प्रसिद्ध और महान लोकतंत्रों में से एक है। भारत में मतदाताओं की संख्या सबसे अधिक है  

15) हिन्दू धर्म

भारत में बहुत सारे हिंदू हैं। भारत में ज्यादातर त्योहार अधिक हिंदू हैं      

Real facts in Hindi About life

  • एक सिगरेट ग्यारह मिनट से आपके जीवन को छोटा करती है।  
  • एक मांसाहारी अपने पूरे जीवन में सात सौ जानवरों को खाता है।
  • हम अपने जीवन के पच्चीस साल सिर्फ सोने में बिताते हैं।
  • आपका मस्तिष्क अपने पूरे जीवन में एक मिलियन जीबी डेटा संग्रहीत करता है।
  • जो लोग अपने दोस्तों से अलग रहते हैं वे जीवन में चार साल से अधिक जीते हैं।
  • हम अपने पूरे जीवन में इतनी लार का उत्पादन करते हैं कि इस लार से दो झीलें भरी जा सकती हैं।      

Love facts in Hindi About love

  • आई लव यू नवंबर के महीने में दुनिया में सबसे ज्यादा बोला जाने वाला शब्द है।
  • दुनिया भर में केवल 2% जोड़ों ने अपने प्यार का इजहार किया है।
  • जब हर व्यक्ति रोमांटिक मूड में होता है, तो उस व्यक्ति का दिमाग कम काम करता है।
  • प्रेम संबंध अठारहवीं शताब्दी में शुरू हुआ।
  • ऑनलाइन प्यार करने वाले 23% जोड़े विवाहित होते हैं।
  • हमारे जीवन में प्रेम का अपना महत्व है, अन्यथा मनुष्य अवसाद का शिकार हो जाएगा।
  • दुनिया में कई जानवर एक ही दोस्त के साथ प्यार करते हैं और वे एक ही दोस्त की सभी आज्ञाओं का पालन करते हैं।
  • एक शोध के दौरान यह पाया गया है कि एक सुंदर चेहरा एक सुंदर शरीर की तुलना में अधिक आकर्षक होता है।  

 Unknown facts in Hindi About The Human Body

  • अन्य जानवरों की नाक इंसान की नाक की तुलना में बहुत तेज होती है, वे किसी भी लम्बाई में सूंघ सकते हैं।
  • आपकी उंगलियों के नाखून की तुलना में मध्य उंगली के नाखून तेजी से बढ़ते हैं।
  • आपके शरीर में लीवर आपके शरीर में 10% वसा से भरा होता है।4) आपके शरीर पर कान और नाक आपके शरीर के साथ लंबे समय तक बढ़ते हैं।
  • दुनिया में जितने लोग हैं, उससे कहीं ज्यादा हमारे शरीर में बैक्टीरिया हैं।
  • हमारे शरीर में मानव हड्डियों के कंकाल को दस साल बाद नवीनीकृत किया जाता है।
  • इंसान के दांत हमेशा शार्क के दांत जितने मजबूत होते हैं।
  • आपके शरीर में रक्त का भार आपके शरीर का आठ प्रतिशत है।
  • हाथ के नाखून जिसके साथ एक व्यक्ति लिखता है, दूसरे हाथ की तुलना में अधिक लंबा होता है।
  • नींद के दौरान मानव मस्तिष्क अधिक सक्रिय होता है।

Information facts in Hindi about Animals

  • तितलियाँ अपने पैरों से किसी भी भोजन का स्वाद ले सकती हैं।  
  • सांप का कान उनके मस्तिष्क में है।  
  • कुछ सांप बिना कुछ खाए दो साल तक जीवित रह सकते हैं।
  • चमगादड़ दुनिया में एकमात्र उड़ने वाला स्तनपायी है।  
  • दुनिया के आधे सूअर चीन में हैं।
  • चींटियाँ इस जीवन में कभी नहीं सोती हैं।
  • घोंघा की आंख पर किसी भी चोट के मामले में, यह फिर से आंख का विकास कर सकता है।      

Amazing facts in Hindi about space

  • सूर्य हमेशा मंगल से नीला दिखाई देता है।
  • यदि अंतरिक्ष यात्रियों द्वारा चंद्रमा पर कोई वस्तु वहां छोड़ी जाती है, तो वस्तु हमेशा उस स्थिति में रहेगी, क्योंकि वह चंद्रमा पर कोई हवा नहीं है।
  • आप नीचे आकाश को देखते हैं, लेकिन यदि आप अंतरिक्ष से देखते हैं, तो आप उसी आकाश को काला देखेंगे।
  • पृथ्वी एक ऐसा ग्रह है, इसका नाम हमेशा किसी देवता के नाम से नहीं होता है।
  • मेरिनर 10 एकमात्र विमान है जो बुध पर उतरा।      

Facts in Hindi about Science

  • तापमान कितना भी कम क्यों न हो, वह पेट्रोल को फ्रीज नहीं कर सकता है।
  • हमारे पास जो पृथ्वी है, वह सिर्फ मनुष्य ही नहीं, बल्कि लोहे, कार्बन जैसी चीजों से बनी है।
  • टमाटर में मानव जीन होता है।      

Intelligent facts in Hindi

  • महिलाओं की पलकें पुरुषों की पलकों से ज्यादा झपकती हैं।
  • महिलाओं की औसत आयु पुरुषों की तुलना में अधिक है।
  • पुरुषों के शरीर का तापमान महिलाओं के शरीर के तापमान से अधिक होता है।
  • महिलाएं पुरुषों से ज्यादा रोती हैं।      

Majedar facts in Hindi

  • एक व्यक्ति औसतन पाँच मिलियन बार सांस लेता है।
  • लगभग यह अंग्रेजी भाषा का सबसे लंबा शब्द है।  
  • मनुष्य की जांघ की हड्डी हमेशा सीमेंट कंक्रीट से मजबूत होती है।
  • दुनिया में कोई नीला फल नहीं है।
  • सुअर आसमान की ओर नहीं देख सकते।
  • एक हाथी कूद नहीं सकता।    

Amazing facts in Hindi about Nature

  • बिल्लियाँ अपने पैर की उंगलियों से पसीना बहाती हैं।
  • गानें सुनते समय गाय अधिक दूध देती हैं।  
  • मगरमच्छ यह जानवर अपनी जीभ नहीं हिला सकता।  
  • जापान में काली बिल्ली को एक शुभ प्रतीक के रूप में जाना जाता है।
  • गायों के सामने के दांत नहीं होते हैं।
  • केवल मादा मच्छर ही जानवरों को काटती हैं, नर मच्छर कभी नहीं काटते हैं।  

Conclusion

उपरोक्त तथ्य आपको हिंदी में मिल गए होंगे। टिप्पणियों में हमें बताएं कि ऊपर दी गई जानकारी के बारे में आपको कैसा लगा। हम हमेशा आपको नवीनतम जानकारी प्रदान करने का प्रयास करेंगे।

Continue Reading

News

Impact of Covid-19 on education System in Hindi

Published

on

Impact of Covid-19 on education System in Hindi

Covid-19 भारत के साथ-साथ दुनिया में भी एक बहुत ही गंभीर महामारी थी। इस बीमारी के कारण भारत और दुनिया में लोगों का जीवन पूरी तरह से तबाह हो गया था। भारत में इन महामारियों ने भारत में बहुत नुकसान किया है। भारत में Covid -19 से काफी नुकसान हुआ है।

शिक्षा क्षेत्र पर भी Covid -19 का व्यापक प्रभाव पड़ा है। (Essay on Impact of covid-19 on education in Hindi) भारत में शिक्षा का क्षेत्र बहुत बड़ा है। इसी तरह भारत में कई तरह के School और College हैं। लेकिन School और Colleges में Covid -19 काफी बदल गया है।

Best Essay on Impact of covid-19 on education in Hindi 👇

  1. Corona महामारी के कारण शिक्षा के बदलते स्वरूप पर एक फीचर 
  2. शिक्षा पर covid-19 के प्रभाव
  3. Digital शिक्षा प्रणाली में Lockdown के परिणाम
  4. Essay on Impact of covid-19 on education in Hindi (निष्कर्ष)
Essay on Impact of covid-19 on education in Hindi

Corona के कारण भारत में पहला Lockdown 24 मार्च, 2020 को भारत में पूरी तरह से घोषित किया गया था। इस बीच, Corona देशव्यापी महामारी के रूप में उभरने वाली एकमात्र वैश्विक महामारी थी। परिणामस्वरूप, सभी देशों की आर्थिक और सामाजिक स्थितियाँ बहुत प्रभावित हुईं। असमानता और बहुत बड़े देशों में छिपी ये बातें हमेशा Lockdown के दौरान सामने आईं।

वे बातें गहरी हो गई थीं। डॉक्टरों के लिए उपलब्ध सुरक्षा किट और Corona के कारण दुनिया में प्रवासी कामगारों की सुरक्षा के अलावा, कुछ महत्वपूर्ण मुद्दे हैं जो भारत के साथ-साथ दुनिया में भी मीडिया में लगातार खोजे जा रहे हैं।

इस पूरे मामले में चर्चा की गई सबसे बड़ी समस्याओं में से एक शिक्षा का मुद्दा है। Lockdown के समय में शिक्षा के अधिकार का बड़ा सवाल खड़ा हो गया है. Corona और Corona के बाद बच्चों की शिक्षा का स्वरूप क्या होगा, इस पर भी विचार करना जरूरी है।

Corona महामारी के कारण शिक्षा के बदलते स्वरूप पर एक फीचर 👇

आजकल पब्लिक Schoolों में पढ़ने वाले अधिकांश बच्चों के माता-पिता हमेशा असंगठित क्षेत्र के साथ-साथ कृषि या छोटे पैमाने पर काम कर रहे हैं।

Covid-19 का लोगों के रोजगार और आय पर भी भारी प्रभाव पड़ा है। बड़ी संख्या में लोग शहरों से बड़ी संख्या में अपने गांव लौटने लगे। बच्चों के School छोड़ने की संभावना अधिक होगी। Lockdown खुलने से परिवार की आर्थिक स्थिति पर गंभीर असर पड़ा है. बच्चों के लिए आय का स्रोत उनकी शिक्षा से काफी कम है।

आजकल विशेष आवश्यकता वाले बच्चों की शिक्षा पर एक बड़ा सवालिया निशान है। एक तरफ उन्हें समाज से बड़े पैमाने पर बहिष्कार का सामना करना पड़ रहा है। और इसी तरह, जबकि अधिकांश शिक्षण कार्य विशेष निजी ट्यूटर्स द्वारा किया जाता है, यह उनके लिए अपने शिक्षा मार्जिन पर ध्यान केंद्रित करने का समय है।

शिक्षा पर covid-19 के प्रभाव👇

आजकल विशेष आवश्यकता वाले श्रमिक कहीं भी कागज पर नजर नहीं आते। दूसरा भाग यह है कि विदेशी श्रमिक अभी भी ठेकेदारों और राजनीतिक वर्ग की निरंतर निष्क्रियता के शिकार हैं।

भारत के साथ-साथ दुनिया के अन्य हिस्सों में Digital शिक्षा तेजी से बढ़ रही है। यही कारण है कि आज की दुनिया में Digital शिक्षा प्रणाली इतनी महत्वपूर्ण और आवश्यक है। हम Digital शिक्षा प्रणाली से बहुत कुछ सीख रहे हैं।

Digital शिक्षा प्रणाली में Lockdown के परिणाम👇

Digital शिक्षा आज की दुनिया में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। Digitalलर्निंग का Covid-19 युग पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ा है। भारत के साथ-साथ कई अन्य देशों में भी Covid -19 के दौर में Digital शिक्षा बहुत बड़े पैमाने पर शुरू हुई है। हम कभी भी, कहीं भी Digital शिक्षा ले सकते हैं।

Digital शिक्षा के कारण, बड़ी संख्या में सेवाओं को Digital माध्यमों से जनता तक पहुँचाया जा रहा है। Digital शिक्षा आज की दुनिया में समय की जरूरत बन गई है। Digital शिक्षा के कारण आज का युग बहुत बड़े पैमाने पर आगे बढ़ रहा है।

Digital शिक्षा आज दुनिया की सबसे महत्वपूर्ण शिक्षा में से एक है। अगर आप सोच रहे हैं कि Digital शिक्षा भविष्य में क्या बदलाव ला सकती है। इसलिए भविष्य में Digital शिक्षा बहुत कुछ बदल सकती है। आजकल, Digital शिक्षा हर जगह व्यापक रूप से उपलब्ध है।

केंद्र सरकार भारत के साथ-साथ कई अन्य देशों में Digital शिक्षा को व्यापक रूप से उपलब्ध कराने के लिए ठोस प्रयास कर रही है। भारत सरकार इन दिनों Digital शिक्षा पर बहुत जोर दे रही है। covid-19 ने Digitalलर्निंग को काफी बढ़ा दिया है।

भारत में Digital शिक्षा Covid -19 के कारण काफी बढ़ गई है। और Covid-19 Digital शिक्षा क्षेत्र में, भारत में शिक्षा क्षेत्र में बहुत बड़ा बदलाव आया है। Digital शिक्षा प्रणाली बच्चों को बड़े पैमाने पर अध्ययन करने की अनुमति देती है। आजकल covid-19 ने बच्चों के लिए पढ़ाई करना बहुत मुश्किल कर दिया है। लेकिन Digital शिक्षा प्रणाली ने इन दिनों बच्चों को शिक्षित करना बहुत आसान बना दिया है।

Essay on Impact of covid-19 on education in Hindi

निष्कर्ष

आज हम शिक्षा क्षेत्र पर Covid -19 का प्रभाव बहुत बड़े पैमाने पर देख रहे हैं। लेकिन हम आपको बताना चाहते हैं कि कैसे Covid -19 ने शिक्षा क्षेत्र को प्रभावित किया है। हमने आपको Essay on Impact of covid-19 on education in Hindi इसके बारे में बहुत ही विस्तृत जानकारी देने की कोशिश की है।

आपको ऊपर दिए गए covid-19 के बारे में कैसा लगा कमेंट बॉक्स में हमें जरूर बताएं। हम हमेशा आपको नवीनतम जानकारी प्रदान करने का प्रयास कर रहे हैं। अगर आपको और जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट बॉक्स में बताएं हम आपके लिए ताजा जानकारी लेकर आएंगे।

लगातार पूछे जाने वाले प्रश्न

  • क्या पूरी दुनिया में Corona है जी हां, पूरी दुनिया में Corona की महामारी फ़ैल रही है।
  • क्या Corona ठीक हो सकता है? जी हां, इस बीमारी को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है।
Continue Reading

News

Dark Sides of Mahatma Gandhi

Published

on

Dark Sides of Mahatma Gandhi

क्यों मुझे गाँधी पसंद नहीं है ? इसके बारे में मेने आपको यहाँ पर विस्तार से बताया है की में गाँधी के बारे में क्या सोचता हु और क्यों सोचता हु इन सभी तथ्यों को आप पढ़ सकते है, और Dark Sides of Mahatma Gandhi के बारे में विस्तार से जान सकते है।

Dark Sides of Mahatma Gandhi

  • अमृतसर के जलियाँवाला बाग़ गोली काण्ड (1919) से समस्त देशवासी आक्रोश में थे तथा चाहते थे कि इस नरसंहार के खलनायक जनरल डायर पर अभियोग चलाया जाए। गान्धी ने भारतवासियों के इस आग्रह को समर्थन देने से मना कर दिया।
  • भगत सिंह व उसके साथियों के मृत्युदण्ड के निर्णय से सारा देश क्षुब्ध था व गान्धी की ओर देख रहा था कि वह हस्तक्षेप कर इन देशभक्तों को मृत्यु से बचाएं, किन्तु गान्धी ने भगत सिंह की हिंसा को अनुचित ठहराते हुए जनसामान्य की इस माँग को अस्वीकार कर दिया। क्या आश्चर्य कि आज भी भगत सिंह वे अन्य क्रान्तिकारियों को आतंकवादी कहा जाता है।
  • 6 मई 1946 को समाजवादी कार्यकर्ताओं को अपने सम्बोधन में गान्धी ने मुस्लिम लीग की हिंसा के समक्ष अपनी आहुति देने की प्रेरणा दी।
  • मोहम्मद अली जिन्ना आदि राष्ट्रवादी मुस्लिम नेताओं के विरोध को अनदेखा करते हुए 1921 में गान्धी ने खिलाफ़त आन्दोलन को समर्थन देने की घोषणा की। तो भी केरल के मोपला में मुसलमानों द्वारा वहाँ के हिन्दुओं की मारकाट की जिसमें लगभग 1500 हिन्दु मारे गए व 2000 से अधिक को मुसलमान बना लिया गया। गान्धी ने इस हिंसा का विरोध नहीं किया, वरन् खुदा के बहादुर बन्दों की बहादुरी के रूप में वर्णन किया।
  • 1926 में आर्य समाज द्वारा चलाए गए शुद्धि आन्दोलन में लगे स्वामी श्रद्धानन्द जी की हत्या अब्दुल रशीद नामक एक मुस्लिम युवक ने कर दी, इसकी प्रतिक्रियास्वरूप गान्धी ने अब्दुल रशीद को अपना भाई कह कर उसके इस कृत्य को उचित ठहराया व शुद्धि आन्दोलन को अनर्गल राष्ट्र-विरोधी तथा हिन्दु-मुस्लिम एकता के लिए अहितकारी घोषित किया।
  • गान्धी ने अनेक अवसरों पर छत्रपति शिवाजी, महाराणा प्रताप व गुरू गोविन्द सिंह जी को पथभ्रष्ट देशभक्त कहा।
  • गान्धी ने जहाँ एक ओर काश्मीर के हिन्दु राजा हरि सिंह को काश्मीर मुस्लिम बहुल होने से शासन छोड़ने व काशी जाकर प्रायश्चित करने का परामर्श दिया, वहीं
  • दूसरी ओर हैदराबाद के निज़ाम के शासन का हिन्दु बहुल हैदराबाद में समर्थन किया।
  • यह गान्धी ही था जिसने मोहम्मद अली जिन्ना को कायदे-आज़म की उपाधि दी।
  • कॉंग्रेस के ध्वज निर्धारण के लिए बनी समिति (1931) ने सर्वसम्मति से चरखा अंकित भगवा वस्त्र पर निर्णय लिया किन्तु गाँधी कि जिद के कारण उसे तिरंगा कर
    दिया गया।
  • कॉंग्रेस के त्रिपुरा अधिवेशन में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस को बहुमत से कॉंग्रेस अध्यक्ष चुन लिया गया किन्तु गान्धी पट्टभि सीतारमय्या का समर्थन कर रहा था, अत: सुभाष बाबू ने निरन्तर विरोध व असहयोग के कारण पदत्याग कर दिया।
  • लाहोर कॉंग्रेस में वल्लभभाई पटेल का बहुमत से चुनाव सम्पन्न हुआ किन्तु गान्धी की जिद के कारण यह पद जवाहरलाल नेहरु को दिया गया।
  • 14-15 जून, 1947 को दिल्ली में आयोजित अखिल भारतीय कॉंग्रेस समिति की बैठक में भारत विभाजन का प्रस्ताव अस्वीकृत होने वाला था, किन्तु गान्धी ने वहाँ पहुंच प्रस्ताव का समर्थन करवाया। यह भी तब जबकि उन्होंने स्वयं ही यह कहा था कि देश का विभाजन उनकी लाश पर होगा।
  • मोहम्मद अली जिन्ना ने गान्धी से विभाजन के समय हिन्दु मुस्लिम जनसँख्या की सम्पूर्ण अदला बदली का आग्रह किया था जिसे गान्धी ने अस्वीकार कर दिया।
  • जवाहरलाल की अध्यक्षता में मन्त्रीमण्डल ने सोमनाथ मन्दिर का सरकारी व्यय पर पुनर्निर्माण का प्रस्ताव पारित किया, किन्तु गान्धी जो कि मन्त्रीमण्डल के
    सदस्य भी नहीं थे ने सोमनाथ मन्दिर पर सरकारी व्यय के प्रस्ताव को निरस्त करवाया और 13 जनवरी 1948 को आमरण अनशन के माध्यम से सरकार पर दिल्ली की मस्जिदों का सरकारी खर्चे से पुनर्निर्माण कराने के लिए दबाव डाला।
  • पाकिस्तान से आए विस्थापित हिन्दुओं ने दिल्ली की खाली मस्जिदों में जब अस्थाई शरण ली तो गान्धी ने उन उजड़े हिन्दुओं को जिनमें वृद्ध, स्त्रियाँ व बालक अधिक थे मस्जिदों से से खदेड़ बाहर ठिठुरते शीत में रात बिताने पर मजबूर किया गया।
  • 22 अक्तूबर 1947 को पाकिस्तान ने काश्मीर पर आक्रमण कर दिया, उससे पूर्व माउँटबैटन ने भारत सरकार से पाकिस्तान सरकार को 55 करोड़ रुपए की राशि देने का परामर्श दिया था। केन्द्रीय मन्त्रीमण्डल ने आक्रमण के दृष्टिगत यह राशि देने को टालने का निर्णय लिया किन्तु गान्धी ने उसी समय यह राशि तुरन्त दिलवाने के लिए आमरण अनशन किया- फलस्वरूप यह राशि पाकिस्तान को भारत के हितों के विपरीत दे दी गयी।
  • गाँधी ने गौ हत्या पर पर्तिबंध लगाने का विरोध किया
  • द्वितीया विश्वा युध मे गाँधी ने भारतीय सैनिको को ब्रिटेन का लिए हथियार उठा कर लड़ने के लिए प्रेरित किया , जबकि वो हमेशा अहिंसा की पीपनी बजाते है
  • क्या 50000 हिंदू की जान से बढ़ कर थी मुसलमान की 5 टाइम की नमाज़ ????? विभाजन के बाद दिल्ली की जमा मस्जिद मे पानी और ठंड से बचने के लिए 5000 हिंदू ने जामा मस्जिद मे पनाह ले रखी थी…मुसलमानो ने इसका विरोध किया पर हिंदू को 5 टाइम नमाज़ से ज़यादा कीमती अपनी जान लगी.. इसलिए उस ने माना कर दिया. .. उस समय गाँधी नाम का वो शैतान बरसते पानी मे बैठ गया धरने पर की जब तक हिंदू को मस्जिद से भगाया नही जाता तब तक गाँधी यहा से नही जाएगा….फिर पुलिस ने मजबूर हो कर उन हिंदू को मार मार कर बरसते पानी मे भगाया…. और वो हिंदू— गाँधी मरता है तो मरने दो —- के नारे लगा कर वाहा से भीगते हुए गये थे…,,, रिपोर्ट — जस्टिस कपूर.. सुप्रीम कोर्ट….. फॉर गाँधी वध क्यो ?
  • भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को 24 मार्च 1931 को फांसी लगाई जानी थी, सुबह करीब 8 बजे। लेकिन 23 मार्च 1931 को ही इन तीनों को देर शाम करीब सात बजे फांसी लगा दी गई और शव रिश्तेदारों को न देकर रातोंरात ले जाकर ब्यास नदी के किनारे जला दिए गए। असल में मुकदमे की पूरी कार्यवाही के दौरान भगत सिंह ने जिस तरह अपने विचार सबके सामने रखे थे और अखबारों ने जिस तरह इन विचारों को तवज्जो दी थी, उससे ये तीनों, खासकर भगत सिंह हिंदुस्तानी अवाम के नायक बन गए थे। उनकी लोकप्रियता से राजनीतिक लोभियों को समस्या होने लगी थी।
  • उनकी लोकप्रियता महात्मा गांधी को मात देनी लगी थी। कांग्रेस तक में अंदरूनी दबाव था कि इनकी फांसी की सज़ा कम से कम कुछ दिन बाद होने वाले पार्टी के
  • सम्मेलन तक टलवा दी जाए। लेकिन अड़ियल महात्मा ने ऐसा नहीं होने दिया। चंद दिनों के भीतर ही ऐतिहासिक गांधी-इरविन समझौता हुआ जिसमें ब्रिटिश सरकार सभी राजनीतिक कैदियों को रिहा करने पर राज़ी हो गई। सोचिए, अगर गांधी ने दबाव बनाया होता तो भगत सिंह भी रिहा हो सकते थे क्योंकि हिंदुस्तानी जनता सड़कों
  • पर उतरकर उन्हें ज़रूर राजनीतिक कैदी मनवाने में कामयाब रहती। लेकिन गांधी दिल से ऐसा नहीं चाहते थे क्योंकि तब भगत सिंह के आगे इन्हें किनारे होना पड़ता.|

यहां पर जो भी Data है वह History की कई किताबों से लिया गया है और इनमें से कोई भी ऐसी नहीं है जो सरकार के दबाव में आकर बदली गई हो, यह सभी जानकारियां उन्हीं किताबों से ली गई है जो स्वतंत्र लिखको ने लिखी है और कुछ इतिहासकारों ने अंग्रेजों के बाद भारत पर लिखी थी।

इसके साथ साथ अंग्रेजों के बाद भारत में जो स्थिति थी और गांधी ने जिस प्रकार उन स्थितियों में अपना उल्लू सीधा किया उन सभी का उल्लेख कुछ पुराने अखबारों और समाचार पत्रों में से लिया गया है बहुत सारे लोग गांधी के इन कामों को सही मानते हैं लेकिन एक धर्म विशेष का विरोध करना मुझे सही नही लगता। 

हो सकता है आप इन चीजों को सही माने, लेकिन मैं इन चीजों को बिल्कुल गलत मानता हूं और इसी कारण में गांधी का विरोधी हूं।

Continue Reading

Trending

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap