Connect with us

Election

पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद

Published

on

कल पश्चिम बंगाल चुनाव का रिजल्ट आया और हमेशा सब दिखाकर ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में चुनाव जीत लिया है ममता बनर्जी ने बहुत ही एकतरफा जीत हासिल की है अब इस चुनाव को हारने के कारण हर प्रकार से बीजेपी पर धावा बोला जा रहा है।

हर प्रकार से चाहे वह करो ना के कारण हो या पश्चिम बंगाल के अंदर रैलियां करवाने के कारण या किसी और कारण से भी बीजेपी को टारगेट किया जा रहा है क्योंकि उन्होंने इतना जोर लगाने पर भी पश्चिम बंगाल को हार लिया।

पश्चिम बंगाल में इन चुनावों की स्थिति को देखते हुए ऐसा प्रतीत हो रहा है।

अब अब बीजेपी पश्चिम बंगाल से हारने के बाद पूरे देश में हर तरफ से टारगेट की जा रही है चाहे वह कोरोना के लिए हो ऑक्सीजन की कमी के लिए हो वैक्सीन की कमी के लिए हो या किन्ही अन्य कारणों से हर तरफ बीजेपी को टारगेट बनाया जा रहा है और बीजेपी की स्थिति बहुत ही दयनीय सी हो गई है।

बंगाल चुनाव में ममता दीदी के जीतने के बाद अब पूरी बीजेपी पार्टी के सभी लोगों में थोड़ा गम का माहौल है और कुछ लोग डर के माहौल में भी हैं।

पश्चिम बंगाल में हारने के बाद अब बीजेपी पर बहुत सारे प्रहार हो रहे हैं और बहुत सारे प्रहार होने बाकी हैं अब हर प्रकार से बीजेपी को गहरा जा रहा है।

इसके साथ-साथ कुछ राजनीतिक पार्टियां जोकि पश्चिम बंगाल में खुद खाता भी नहीं खोल पाई लेकिन बीजेपी के हारने से खुश नजर आ रही है चारों और दिख रहा है की बीजेपी की हार का वह सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी हार से ज्यादा मजा ले रही हैं।

अगर हम थोड़ा ध्यान लगा कर सोचे तो यह हमें अबकी बार अमेरिका के चुनाव की तरह ही प्रतीत होता दिख रहा है अगर हम अमेरिका के चुनाव और पश्चिम बंगाल चुनाव में कुछ समानताएं ढूंढने की कोशिश करें तो दोनों में ही सबसे बड़ी समानता यह है कि दोनों में हार का कारण कोरोना काल में सही तरह से प्रबंधन ना कर पाना ही लग रहा है।

शुरू से ही पश्चिम बंगाल के बाहर के लोगों द्वारा यह हवा बनाई जा रही थी कि अबकी बार बीजेपी पश्चिम बंगाल में जीतेगी लेकिन पश्चिम बंगाल के लोगों ने ही यह साबित कर दिया कि उन्हें तृणमूल कांग्रेस ही चाहिए या यूं कहें दीदी ही चाहिए अब आगे यह देखना है कि जिस जनता ने ममता बनर्जी को चुना है वह ममता बनर्जी जनता की उम्मीदों पर खरी उतर पाती है या नहीं।

आज मैंने बहुत से लोगों के चेहरे पर ममता बनर्जी की जीत के कुछ अलग ही भाव देखें वह ममता बनर्जी की जीत से ज्यादा बीजेपी की हार से खुश थे।

जब आज हमने कुछ किसान आंदोलन समर्थकों से बात की तो हमें उनके विचार जानने का मौका मिला वह बीजेपी को किसी भी हालत में हारता हुआ देखना चाहते थे और आज उनके कुछ मनोकामना पूरी हुई और पश्चिम बंगाल में जब बीजेपी की हार हुई तो बहुत सारे किसान आंदोलन समर्थकों ने जश्न मनाया और एक तरह से उन्हेंभी ममता बनर्जी की जीत से ज्यादा बीजेपी की हार की खुशी थी।

1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: [True/false] Bengal Riots after election - Indian Mic

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap